दो हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन, 17 मई तक पाबंदी


दिल्लीः लॉकडाउन की अवधि फिर से दो हफ्ते के लिए बढ़ा दी गई है । देशभर को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोनों में बांटा जा रहा है । ग्रीन जोन में सभी बड़ी आर्थिक गतिविधियों की छूट दे दी गई है । ताजा आदेश के मुताबिक, ग्रीन जोन में बसें चल सकेंगी, लेकिन बसों की क्षमता 50 से ज्यादा नहीं होगी । यानी, अगर किसी बस में 50 सीटें हैं तो उसमें 25 से ज्यादा यात्री नहीं चढ़ेंगे। इसी तरह, डीपो में भी 50 से ज्यादा कर्मचारी काम नहीं करेंगे ।


देश में कौन से जोन, कितने
ध्यान रहे कि पूरे देश को 733 जोनों में बांटा गया है । इनमें 130 रेड जोन, 284 ऑरेंज जोन जबकि 319 ग्रीन जोन घोषित किए गए है । ग्रीन जोन के जिलों में नाई की दुकानें, सैलून समेत अन्य जरूरी सेवाओं और वस्तुएं मुहैया कराने वाले संस्थान भी 4 मई से खुल जाएंगे । सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स आदि बंद रहेंगे ।


ऑरेंज जोन में बसें नहीं, कैब की अनुमति
वहीं, ऑरेंज जोन में बसों के परिचालन की छूट नहीं होगी, लेकिन कैब की अनुमति होगी । कैब में ड्राइवर के साथ एक ही पैसेंजर हो सकता है । ऑरेंज जोन में इंडस्ट्रियल ऐक्टिविटीज शुरू होगी और कॉम्प्लेक्स भी खुलेंगे । रेड जोन में नई की दुकानें, सैलून आदि बंद रहेंगे । विस्तृत जानकारी गृह मंत्रालय की तरफ से दी जाएगी ।


देश में अभी 307 जिले ग्रीन जोन में
देश में कुल 739 जिले हैं, जिनमें से 307 अब भी कोरोना से अछूते हैं यानी 40 प्रतिशत से भी ज्यादा । यह 319 जिले ग्रीन जोन्स है । 3 मई के बाद इन जिलों में फैक्ट्रियों, दुकानों, छोटे-मोटे उद्योगों समेत ट्रांसपोर्ट और अन्य सेवाओं को भी शर्तों के साथ पूरी तरह खोलने की अनुमति दे दी गई है । गौरतलब है कि जिन जिलों में पिछले 21 दिनों से कोरोना वायरस के संक्रमण का एक भी मामला नहीं आता है, उन्हें ग्रीन जोन घोषित कर दिया जाता है । पहले यह मियाद 28 दिनों की थी जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने घटाकर 21 दिन कर दी ।


ऑरेंज जोन में 284 जिले
ऑरेंज जोन में उन जिलों को शामिल किया गया है जहां कोरोना मरीजों की संख्या कम है और वहां संक्रमण फैलने का खतरा भी कम है । चूंकि यहां कोविड-19 मरीज हैं, इसलिए इन्हें ग्रीन जोन में नहीं रखा जा सकता है और खतरा ज्यादा नहीं होने के कारण इन्हें रेड जोन में भी नहीं रखा गया है । यानी, इन्हें बीच के ऑरेंज जोन में रखा गया है जिन्हें नॉन-हॉटस्पॉट डिस्ट्रक्टि्स भी कहा जाता है । इस कैटिगरी में अभी 284 जिले है ।


129 जिले रेड जोन में, पूरी दिल्ली भी
देश में 130 जिले रेड जोन्स में है यानी वहां कोरोना वायरस के हॉटस्पॉट्स है । पूरी दिल्ली रेड जोन में है । मुंबई, अहमदाबाद, सूरत जैसे बड़े औद्योगिक केंद्र भी रेड जोन्स में हैं, जहां रियायतों की गुंजाइश न के बराबर है ।


Popular posts
मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों की चिन्ता कर उनके चेहरे पर रौनक लाने का काम किया है, जैविक खेती को अधिक से अधिक अपनायें किसान - मंत्री
चित्र
स्वसहायता समूह में अधिक से अधिक महिलाएं आत्मनिर्भर बने, लाभोन्मुख स्वरोजगार एवं कौशल आधारित रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना सरकार का मुख्य उद्देश्य, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने हितलाभ वितरण कार्यक्रम में भाग लिया
चित्र
उज्जैन में हिस्ट्रीशीटर बदमाश दुर्लभ कश्यप की हत्या
चित्र
मंत्री श्री यादव ने घट्टिया में गौशाला का लोकार्पण किया
चित्र
#UjjainDefeatsCorona केम्पेन में नेत्रत्व विकास के विद्यार्थियों ने संभाला मोर्चा
चित्र