दो बाल श्रमिक मुक्त करवाये गये


उज्जैन। श्रम विभाग द्वारा गठित की गई टास्क फोर्स ने संयुक्त निरीक्षण में उज्जैन में जैन नमकीन एवं किराना स्टोर तथा बाटा शोरूम के पास दो बाल श्रमिकों को कार्यरत पाया। निरीक्षण दल द्वारा कार्यवाही करते हुए बाल श्रमिक को मुक्त करवाया गया। दोनों बाल श्रमिकों के माता-पिता को समझाईश दी गई कि उन्हें श्रम कार्य में न लगायें तथा दोनों बालकों को माता-पिता को सौंप दिया गया।


सहायक श्रमायुक्त सुश्री मेघना भट्ट ने यह जानकारी देते हुए बताया कि बाल श्रम अधिनियम में प्रावधान है कि कोई भी व्यक्ति को 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को काम पर रखता है तो उसे कम से कम छह माह एवं अधिकतम दो साल तक की जेल की सजा हो सकती है। साथ ही 20 हजार से 50 हजार रुपये तक का जुर्माना किया जा सकता है। सहायक श्रमायुक्त ने सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से आव्हान किया है कि वे अपने यहां बाल श्रमिकों को काम पर न रखें। निरीक्षण दल में श्रम निरीक्षक श्री पीसी अहिरवार, श्री आदित्यप्रतापसिंह गौड़, श्री प्रशांत दुर्गा, सुश्री शुभि खंडेलवाल, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर श्री सतीश शर्मा, श्री अवधेश प्रतापसिंह गौड़, प्रधान आरक्षक श्री हीरामणि पाण्डेय, चाईल्ड लाइन से श्रीमती रेखा वासनिक आदि शामिल थे।


Popular posts
मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों की चिन्ता कर उनके चेहरे पर रौनक लाने का काम किया है, जैविक खेती को अधिक से अधिक अपनायें किसान - मंत्री
चित्र
स्वसहायता समूह में अधिक से अधिक महिलाएं आत्मनिर्भर बने, लाभोन्मुख स्वरोजगार एवं कौशल आधारित रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना सरकार का मुख्य उद्देश्य, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने हितलाभ वितरण कार्यक्रम में भाग लिया
चित्र
उज्जैन में हिस्ट्रीशीटर बदमाश दुर्लभ कश्यप की हत्या
चित्र
मंत्री श्री यादव ने घट्टिया में गौशाला का लोकार्पण किया
चित्र
#UjjainDefeatsCorona केम्पेन में नेत्रत्व विकास के विद्यार्थियों ने संभाला मोर्चा
चित्र